निर्देशक चंद्रभूषण सिंह ने स्वर्गीय पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी को नाटक के ज़रिये दी स्वर्णिम भेंट !


किसी को याद करने का सबसे अच्छा ज़रीया होता हैं की उसके महान कार्यों को देश और दुनिया के समक्ष रखा जाएं जिससे लोगो को उस इंसान की महानता और समाज हित के कार्यों को जानने का मौका मिले और इस काम को आप या तो फिल्म या फिर नाटक के ज़रिये कर सकते हैं | लेखक और निर्देशक चंद्रभूषण सिंह ने ‘गाथा एक प्रचारक की एकात्म मानव दर्शन’ के ज़रिये पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की उत्तम छवि को नाटक के सहारे प्रस्तुत किया जो उन्होंने खुद ही लिखी हैं | इस नाटक का सफल बनाने में ब्लैक एंटरटेनमेंट और चंद्रभूषण सिंह को जाता हैं जिन्होंने इसे प्रोडूस किया था | वही चाणक्य आय.ऐ .अस अकादमी का सराहनीय योगदान रहा | 

इस कार्यक्रम का हिस्सा बने मुख्य अतिथि माननीय इन्द्रेश कुमार जी, जो राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक है, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष माननीय श्री श्याम जाजू जिन्होंने मंच पर पंडित दीनदयाल जी के आदर्शो और विचारों पर विचार को व्यक्त किया | आगे उन्होंने कहा की दीनदयाल जी के विचारों को आज पूरी दुनिया अपना रही है और उनके एकात्म मानवतावाद को आगे सही दिशा में ले जा रही है।

विशिष्ट अतिथियों में भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्री माननीय श्री अश्विनी कुमार चौबे जी, शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के राष्ट्रीय सचिव माननीय श्री अतुल कोठारी जी और चाणक्य आईएएस एकडेमी के चेयरमैन सक्सेस गुरू एके. मिश्रा जी भी उपस्थित रहें |

एके मिश्रा जी ने सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए चाणक्य एकेडमी का मार्ग दिखाया। शिक्षा संस्कृति को आगे ले जाने वाले श्री अतुल कोठारी जी ने दीनदयाल जी को लोगों के लिए एक पथ-प्रर्दशक बताया। अतुल कोठारी जी ने अपने सद्भाव विचारों को मंच पर प्रकृट कर पूरी सभा को संबोधित किया।

पंडित दीनदयाल जी एक लेखक होने के साथ-साथ एक पत्रकार और महान चिन्तक और संगठनकर्ता थे। वे भारतीय जनसंघ, जो अब बीजेपी है के अध्यक्ष भी रहे। उन्होंने भारत देश की सनातन विचारधारा को युगानुकूल रूप में प्रस्तुत करते हुए देश को एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा दी। उपाध्यायजी नितान्त सरल और सौम्य स्वभाव के व्यक्ति थे। के अलाव साहित्य में भी उनकी गहरी अभिरुचि थी।

इस कार्यक्रम में समाज सेविका और ‘जागृति-एक नई सोच’ NGO की फाउंडर मीना गिल जी भी उपस्थित रही। और यहां पर उन्होने पंडित दीनदयाल जी के कार्यक्रम के आयोजन में अपनी अहम भूमिका निभाई।

इस कार्यक्रम में अतिथि के तौर पर लोकसभा सांसद मा. राजकुमार सैनी जी, लोकसभा सांसद मा. अजय निषाद जी, सामाजिक कार्यकर्ता पारूल महाजन जी भी उपस्थित रहे और इस समारोह में चार चांद लगाए।

एक लेखक और निर्देशक के तौर पर चंद्रभूषण सिंह जी ने काफी सराहनीय काम किया हैं उनके काम की जितनी भी तारीफ़ की जाएं वो कम हैं | चंद्रभूषण निर्देशक होने के साथ एक अभिनेता भी हैं जिन्होंने ‘मासाब’ जैसी अवार्ड विनिंग फिल्म में भी काम किया हैं | लेकिन समाज को अभिनय की कला से किस तरह से आगे बढ़ाना हैं यह काम वो बखूबी जानते हैं |

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win

You may also like

More From: News

DON'T MISS