सचिन वाजे का दिशा सुशांत कनेक्शन ? बीजेपी गिरा देगी महाराष्ट्र सरकार


राजनीती और पैसा दो ऐसी चीज़ हैं जो किसी की सगी नहीं होती. जिसके पास ये दोनों हैं वो खुद को ताकतवर समझता हैं. ताकत का इस्तेमाल अगर अच्छी चीज़ों के लिए किया जाये तो ताकत और बढ़ जाती हैं. यकीन उसी ताकत का अगर गलत इस्तेमाल हो तो समझो आपके ऊपर भी कोई बैठा हैं. कुछ ऐसी ही बात निकलकर सामने आ रही हैं महाराष्ट से.

महाराष्ट्र में बीजेपी का साथ छोड़ महाआघाडी की जो सरकार बनी हैं. तब से लेकर अब तक एक के बाद एक कुछ ना कुछ बड़ा अपराध होते चला आ रहा हैं. पालघर में साधुओं की ह्त्या, सुशांत सिंह राजपूत का मामला, दिशा सालियान का मामला, ड्रग्स का मामला, अर्नब गोस्वामी की गिरफ़्तारी और अब मनसुख हिरेन की ह्त्या का मामला.

इन सभी मामलो में एक बात कॉमन रही हैं की सवाल सिर्फ मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र सरकार पर ही उठा रहा हैं. बीजेपी जब ये मुद्दा उठाती हैं तो महाराष्ट्र सरकार ये कह देती है की ये सब काम बीजेपी बदले की भावना से कर रही हैं.

कुछ दिन पहले मुकेश अंबानी के घर के बाहर जो चीज़े मिली वो कोई छोटी बात नहीं थीं. मुंबई पोलिए की शुरुवाती जांच में ये आया की किसी आतंकी संगठन ने ये काम किया हैं. जिस व्यक्ति की स्कार्पियो मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिलती हैं वो भी कोई छोटा मोटा इंसान नहीं था. लेकिन उस इंसान ने अपनी स्कार्पियो गायब होने की रिपोर्ट लिखवा दी थीं. सीसीटीवी में ये भी दिखा की एक संदिघ्त व्यक्ति पीपीई किट पहनकर उस स्कार्पियो को वहा छोड़ गया था.

कुछ दिन बाद मनसुख हिरेन की हत्या हो जाती हैं. लेकिन यहाँ भी इसे चारांत आत्महत्या बताया जाता हैं. मनसुख हिरेन की पत्नी ने आरोप लगाया सचिन वाजे पर की उसने ही हत्या की हैं. ये बात देवेंद्र फडणवीस ने विधानसभा में भी कहा था की मनसुख हिरेन की जान की खतरा हैं. अब जांच पहुँचती हैं NIA के पास.

जब NIA के आपस जांच पहुंची तो संजय राउत ने इस बात भी कहा की मुंबई पुलिस सक्षम हैं की वो मनसुख हिरेन की और मुकेश अंबानी के घर के बाहर जो स्कार्पियो मिली उसकी जांच कर सकती हैं. लेकिन बारह घंटे की पूछताछ में सचिन वाजे ने सब कबूल कर लिया की क्या कब और कैसे हुआ था. सचिन वाजे को गिरफ्तार किया गया.

बात ये निकलकर आई की स्कार्पियो सचिन वाजे ने ही पार्क किया था. उसके बाद मुंबई पुलिस की इन्नोवा में बैठकर निकल भी गए जो कुछ दुरी पर खड़ी थीं. खबर ये भी निकल कर आई की सचिन वाजे महाराष्ट्र के किसी बड़े नेता के कांटेक्ट में थे. अब ये कौन नेता हैं फ़िलहाल पता नहीं.

अब विवेकानंद गुप्ता ने एक ट्वीट किया हैं जिसमे उन्होंने लिखा :क्या सचिन वाजे उस दिन दिशा सालियान के क्राइम स्पॉट पर गए थे जहा से दिशा को खिड़की से बाहत फेंका गया था. उसके बाद क्या वो सुशांत सिंह राजपूत के घर भी गए थे जब उनकी मौत हुयी थीं. NIA को इस पर ध्यान देना चाहिए क्यूंकि सचिन वाजे बारह साल ड्यूटी पर नहीं थे उसके बाद उन्हें ६ जून को फिर से ड्यूटी पर लाया गया और उसके बाद आठ या नौ को दिशा सालियान की मौत होती हैं फिर तरह या चौदह को सुशांत की मौत होती हैं.

अब सवाल ये हैं की आखिर मुकेश अंबानी के घर के बाहर जिलेटिन से भरी स्कार्पियो मिलने का क्या मतलब हैं ? क्या मुकेश अंबानी को टारगेट किया जा रहा था या कोई पैसे की बड़ी डिमांड की गयी. ये धमकाने की कोशिश की गयी.

दूसरा सवाल ये हैं की दिशा सालियान की मौत क्यों और कैसी हुई ? उसके पीछे असली वजह क्या हैं ? क्या दिशा कोई ऐसा राज जानती थीं जिसके बाहर आने से किसी को कोई बड़ा नुक्सान होनेवाला था.

तीसरा सवाल ये हैं की सुशांत सिंह राजपूत की मौत कैसे हुयी. सुशांत ने डिप्रेशन के चलते आत्महत्या की ये वाली बात तो बिलकुल झूठी ही नज़र आती हैं. क्या सुशांत कोई बड़ा राज जानते थे? क्या सुशांत ड्रग्स माफ़ियों के निशाने पर थे ? क्या सुशांत की दुश्मनी बॉलीवुड के किसी बड़े निर्माता, निर्देशक या कलाकार के साथ थीं जिसके चलते ऐसा हुआ ?

सवाल कई हैं लेकिन जवाब कुछ भी नहीं. क्यूंकि इन सभी केस ने मुंबई पुलिस पर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं. क्या मुंबई पुलिस अपने ऊपर लग रहे इन सवालों का जवाब दे पाएगी ? क्या वाकई महाराष्ट्र में राजनीती के चलते ये सब हो रहा हैं ?

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win

You may also like

More From: News

DON'T MISS