सलीम खान बने ‘फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लाइज’ ( FWICE ) के मुख्य सलाहकार


सलीम खान यह नाम उतना ही चर्चित हैं जितनी की फिल्म इंडस्ट्री और फिल्मों का इतिहास। अपनी कलम से उन्होंने ऐसी -ऐसी फिल्में लिखी जो भारतीय सिनेमा जगत में मील का पत्थर बन गयी.  सलीम खान की कलम से लिखी वह फिल्म भी शामिल हैं जिसमे अमिताभ बच्चन और धर्मेंद्र की दोस्ती, ठाकुर बने संजीव कुमार और डाकू बने अमज़द खान की ‘शोले’ भी शामिल हैं। सलीम खान को ‘फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लाइज’ का मुख्य सलाहकार बना दिया गया हैं।

पांच लाख सदस्यों वाली ‘फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लाइज’ का मुख्य सलाहकार बनने के बाद लेखक सलीम खान ने कहा,’फेडरेशन से जुड़कर उन्हें बड़ी प्रसन्ता हो रही हैं।” इस मौके पर ‘फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लाइज’ की तरफ से उन्हें शॉल और श्रीफल देकर स्वागत किया गया। इस सुनहरे अवसर पर ‘फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लाइज’ के चैयरमेन बी. ऍन. तिवारी, महासचिव अशोक दुबे, कोषाध्यक्ष गंगेश्वरलाल श्रीवास्तव,राजा खान, राकेश मौर्या और शरद शेलार उपस्थित रहे।

बात अगर सलीम खान की करें तो उन्होंने अभिनेता के तौर पर ‘सरहदी लुटेरा’, ‘दीवाना’, ‘तीसरी मंज़िल’ और लेखक के तौर पर ‘शोले’, ‘डॉन’, ‘अकेला’, ‘मिस्टर इंडिया’, ‘शक्ति’, ‘क्रांति’, ‘दोस्ताना’,’शान’, ‘काला पत्थर’,’दीवार’, ‘मज़बूर’, ‘ज़ंज़ीर’, ‘यादों की बरात’,’सीता और गीता’,’हाथी मेरे साथी’ में अपनी कलम की अमित चाप छोड़ी हैं। सलीम खान ने ‘बिल्ला नंबर ७८६’, ‘इंसानियत का देवता’ और ‘आखिरी गुलाम’ में निर्माता के तौर पर पर अपनी भूमिका अदा की हैं।

 

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
1
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win

You may also like

More From: Entertainment

DON'T MISS