कल तक उड़ाते थे मज़ाक आज बॉलीवुड को चढ़ा हिन्दू धर्म का बुखार


पहले वो आपको टोकेंगे फिर रोकेंगे और अंत में आपके साथ हो जायेंगे. समय के साथ ना चलनेवाले इंसान को सिर्फ ठोकरे ही खानी पड़ती हैं. शायद ये बात बॉलीवुड समझ चुका हैं. लेकिन थोड़ी देर हो गयी हैं. कल तो जो बॉलवुड लगातार हिन्दू धर्म को लेकर गलत चीज़े दिखा रहा था. हिंदू देवी देवताओं पर निशाना साध रहा था आज अचानक से वो खुद को बदलने की इतनी कोशिश क्यों कर रहा हैं. क्यूंकि जनता समझदार हो गयी वो हर चीज़ को समझ रही हैं की क्या गलत हैं और क्या सही हैं.

अभी पिछले कुछ महीनों में आपने देखा होगा की एक दौर चल पड़ा हैं की राम कौन बनेगा और सीता का किरदार कौन निभाने वाली हैं. अक्षय कुमार एक समय ये बोल रहे थे की वैष्णोदेवी जाने की क्या ज़रूरत हैं लेकिन जैसे ही लक्ष्मी फ्लॉप हुयी उनकी अक्कल ठिकाने आ गयी. अब फिल्म बना रहे हैं रामसेतु.

दीपिका पादुकोण कल तक देशविरोधी लोगो के साथ खड़े थीं कुछ पांच करोड़ रूपये लेकर लेकिन छपाक फ्लॉप होने के बाद अक्कल ठिकाने आ गयी. लेकिन तब तक देर हो चुकी थीं. ड्रग्स जैसे बड़े मामले में नाम जो आ गया जिस निर्माता ने दीपिका को सीता का रोल दिया था वो दीपिका से छीन लिया गया. वजह आप सभी की एकता हैं जिसने ये कह दिया की एक नशेड़ी और गांजा फूँकनेवाली अगर माता सीता का रोल करेगी तो इस फिल्म का बायकाट किया जायेगा. नारिज़ा ये रहा की दीपिका को इस फिल्म से बाहर का रिश्ता दिखा दिया गया.

इस इस राजामौली एक फिल्म बना रहे हैं जिसका नाम हैं RRR लेकिन दुख की बात ये हैं की इस फिल्म में सीता का रोल आलिया भट्ट करेगी जिनके पिता पर कई तरह के आरोप अलग चुके हैं. उसकी वजह ये भी है की आलिया ये रोल यकीनन करण जोहर के चलते मिला होगा. खैर जनता फैसला करेगी की आलिया की वजह से ये फिल्म हिट होती या फ्लॉप.

फिर एक खबर और निकल कर आ रही हैं की करीना कपूर भी किसी फिल्म में सीता का रोल करनेवाली हैं. वो करीना कपूर जिसके बेटे का नाम तैमूर हैं और जिसका पति तांडव जैसी फिल्म का हिस्सा हैं जहां पर भगवन शंकर का मज़ाक बनाया जाता हैं.

खबर ये भी थीं की महाभारत में आमिर खान कृष्णा का रोल करनेवाले हैं लेकिन बात ये हैं की अपने मन मुताबिक उसमे कुछ गलत दिखा नहीं सकते हैं. क्यूंकि सरकार इस वक्त बीजेपी की हैं.इसलिए भाई साब ने फिल्म बनाने का आईडिया ही ड्राप कर दिया.

ऐसी बहुत सी फिल्म बन रही हैं जिसमे रामायण और महाभारत को सबसे पहले प्राथमिकता दी जा रही हैं. उसकी कई वजह हैं. एक तो ये की साउथ की फिल्मो में जिस तरह से हिंदू धर्म को अच्छी तरह से दिखाया जाता हैं जिसे लोग पसंद करते हैं. बाहुबली में हमने आलरेडी देखा ही. जहां एक तरफ बाहुबली जैसी फिल्म में प्रभास शिवलिंग को उठाते हैं तो दर्शक खुश हो जाते हैं तो दूसरी तरफ पिके में आमिर खान भगवान शंकर पर दूध चढाने को अंधविश्वास बताते हैं. जिसका नतीजा ये था की फिल्म ने पैसे तो कमाए लेकिन गालीया भी बहुत खाई.

तीसरी बात ये हैं की बॉलीवुड अब डर चुका हैं की हिंदू धर्म पर कुछ भी गलत दिखाया तो खैर नहीं. सरकार के साथ आम जनता उन्हें कहीं का नहीं छोड़नेवाली हैं. ताण्डव पर जिस तरह से केस हुआ वो सभी के लिए सबक हैं.

चौथी वजह ये भी हैं की लॉक डाउन के दौरान लोगो ने मायण और महाभारत को इतना दिल से देखा की बॉलीवुड उस मौके का भी फायदा उठाना चाह रहा हैं.

तो जिस तरह से हमारे देश के कुछ नेता हैं जो चुनाव के पहले हिंदू मंदिरों में जाने से कतराते हैं लेकिन चुनाव आते ही कभी गंगा नहाते हैं तो कभी हरिद्वार की यात्रा पर निकल जाते हैं. ये बात बॉलीवुड भी समझ चूका हैं की जीना हैं तो नकली खाल पहनना होगा तब तक जब तक बीजेपी की सरकार हैं और जनता का गुस्सा शांत नहीं हो जाता हैं.

लेकिन अभी भी ये संदेह हैं की जनता इनकी फिल्मों को देखें से रही. क्यूंकि जब तक सुशांत का मामला साफ़ नहीं हो जाता तब तक बॉलीवुड का बायकाट चलता रहेगा.

What's Your Reaction?

hate hate
1
hate
confused confused
1
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
2
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win

You may also like

More From: Entertainment

DON'T MISS