बॉलीवुड की हिंदू विरोधी नफरत नासा तक पहुंच गयी | प्रतिमा रॉय की भगवान वाली तस्वीर से लोगो को परेशानी


हमारे देश में दोगले दो मोहे सांप वाली प्रजाति इतनी हैं जितनी अमज़ॉन और अफ्रीका के जंगलो ने भी नहीं हैं. जो ज़हरीले सांप होते हैं वो तो बाहर से ही डंसने का काम करते हैं लेकिन हमारे भारत में जो सांप पाए जाते हैं वो इंसान के भीतर घुसकर कुछ दिन रहते हैं और भीतर ही भीतर आपके शरीर के भीतर के हर एक अंग को काटते हैं. ताकि ये सुनिश्चित कर सके की जिसे मैं काट रहा हूँ वो कहीं से भी ज़िंदा ना बचे.

खैर इनके ज़हर में वो जहरीलापन नहीं हैं जो सनातन धर्म की सभ्यता और संस्कार को खत्म कर सकें. बात ऐसी हैं की नासा ने अपने ट्विटर पर कल कुछ तसवीरें शेयर की थीं जो नासा के साथ इंटर्नशिप कर रहे हैं. इसी में एक तस्वीर थीं प्रतिमा रॉय जिनकी तस्वीर के पीछे देवी देवताओं की मूर्ती दिख रही हैं.

अब सभी धर्म को साथ लेकर चलने वाले और सेकुलरिज्म की बात करने वाले उच्च कोटि के लीब्रण्डुओं को ये बात बुरी लग गयी. लगनी भी थीं एक तो हिंदू धर्म दूसरा नासा ने ये तस्वीरें शेयर की थीं. ये गर्व की बात हैं.

अपनी वीडियो में मैं हमेशा कहता हूँ की भाई हर धर्म और जाती का सम्मान करो. जब आप सम्मान दोगे तो आपको मिलेगा भी. लेकिन कुछ लोग है जिन्हे खुजली ज़्यादा होती हैं. इनके घर पर बीटेक्स होता नहीं तो खुजली मिटाने के लिए ट्विटर पर चले आते हैं.

अगर इस तस्वीरें के पीछे किसी भी धर्म का कोई प्रतीक होता तो हमें गर्व होना चाहिए क्यूंकि एक लड़की जो भारतीय हैं नासा के साथ काम कर रही हैं. लेकिन जिन्हें नफरत खोजनी हैं वो तो कहीं से भी खोज लेते हैं.

अब जो बेवकूफ प्रतिमा रॉय को ट्रोल कर रहे है उनके लिए एक ही बात कहना चाहूंगा की … की चाणक्य ने कहा था की बेवक़ूफ़ को बेवकूफी करने दो अगर उसके साथ वाद विवाद करोगे तो आप बेवक़ूफ़ बन जाओगे और वो बेवक़ूफ़ होकर भी समझदार बन जाएगा.

अब उन बेवकूफो ने क्या कहा उसे यहाँ दिखाकर या बताकर मतलब नहीं. बेवक़ूफ़ सिर्फ बेवक़ूफ़ होता हैं. ये किसी काम के नहीं होते. बीवी की कमाई खाने वाले लोग होते है. घर पे दिन भर बेवड़ा मारकर पड़े रहते हैं.

लेकिन कुछ उदहारण देता हूँ जिससे आप समझ जायेंगे की प्रतिमा रॉय ने वही किया जो महान लोग करते हैं. जो अपने धर्म एयर ईश्वर पर यकीन रखते हैं की वो उसे हर मुसीबत से आगे बढ़ने में साथ देगा.

सुनीता विल्लियम्स जब अंतरिक्ष में गयी थीं तब अपने साथ भगवद गीता लेकर गयी थीं. चंद्रयान २ के लांच के पहले इसरो चीफ के सिवान उडुपी के कृष्णा मठ गए और आशीर्वाद लिया. पीएसएलवी लांच के पहले इसरो के चेयरमैन राकेट की रेप्लिका को लेकर भगवान वेंटसेश्रवा के दर्शन के लिए तिरुमला गए.

जितनी भी सेटेलाइट लांच होती हैं उसके पहले नारियल फोड़ा जाता हैं पूजा की जाती हैं. अग्नि ५ के लांच के पहले DRDO ने भी पूजा पाठ की थीं. राफेल को भारत में लाने से पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जी राफेल पर स्वस्तिक बनाते हैं. नारियल रखते हैं पूजा करते हैं.

हर इंसान की अपनी अपनी आस्था होती हैं. लेकिन जब भी चमन चिंदीयों को मौका मिलता हैं तब हिंदू धर्म और रास्ता का मज़ाक बनाते हैं. कभी बॉलीवुड की फिल्मो के माध्यम से तो कभी प्रतिमा रॉय के बहाने. बेसिकली इनकी पूरी ज़िंदगी इसी में तबाह हो जाती हैं.

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win

You may also like

More From: Read

DON'T MISS