इतना मज़बूर कोई कभी नहीं हुआ. आपकी ज़िंदगी आपके हाथों में हैं.


इस वीडियो को बहुत ध्यान से देखना और अपने करीबी लोगो को समझाने की कोशिश भी करना
क्यूंकि बहुत देर हो चुकी हैं. जैसा आप सोच रहे हैं हालात वैसे बिलकुल भी नहीं हैं. अगर कोविद 19 के वेबसाइट पर आप एक दिन के हज़ार मौत देख रही हो तो आप बिलकुल अंधेरे में हो.क्यूंकि हर रोज़ पूरे भारत में दस हज़ार से भी ज़्यादा मौते हो रही हैं. हो सकता हैं की ये आंकड़ा इससे भी कहीं ज़्यादा हो.

मैं आपको डराने की कोशिश नहीं कर रहा हूँ बल्कि ये बोलना चाहता हूँ की ये अंतिम चेतावनी हैं. आपको बचाने के लिए कोई नहीं आएगा. आपको खुद बचना हैं और अपने परिवार को बचाना हैं. कम खाओ लेकिन घर के भीतर रहों. बेवज़ह बाहर मत निकलो. कम से कम दो महीने के लिए एकदम सतर्क हो जाओ और निकलो तो चेहरे पर डबल मास्क लगाओ. यानी पहले सर्जिकल मास्क और उसके ऊपर ऍन 95. कपड़े वाले मास्क का इस्तेमाल बिलकुल मत करना. जितना हो सके साफ़ सफाई रखों.

इस वक्त सारा सिस्टम फेल हो चुका हैं. सरकार, चाहे वो केंद्र की हो या राज्य की सब के सब फेल हो चुके हैं. हमारा और आपका बस ऊपर वाला ही मलिक हैं. वैसे सरकार को गालीया देकर आप अपनी भड़ास निकाल सकते हो की वो रैलीया कर रहे हैं. कुंभ का मेला लगा हैं. रमजान की भीड़ हैं. पंचायत चुनाव चल रहे हैं. एक दूसरे पर जितना आरोप लगाना है लगा लो. सोशल मीडिया पर हिंदू मुस्लिम को लेकर जितना झगड़ना है झगड़ लो. दिल को थोड़ी राहत ज़रूर मिलेगी लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हैं.

जिन अस्पतालों से एक या दो मौत की खबर आ रही हैं सब झूटी हैं. एक एक अस्पताल से एक दिन में दस दस मौते हो रही हैं. कहीं पर ऑक्सीजन नहीं हैं. कहीं पर बेड खाली नहीं हैं. कहीं दवा के नाम पर कालाबाजारी चालू हैं तो कहीं कुछ और घोटाला चालू हैं. मेरी जान पहचान के करीबियों में ना जाने कितने ही दोस्तों की मौत हो चुकी हैं. उनकी उम्र नहीं थीं. लेकिन कोरोना उम्र देखकर जान नहीं लेता.

अगर आपको लगता हैं की आप बहुत बड़े करोड़पति हैं. आपकी बहुत जान पहचान हैं. फलाना मंत्री और फलाना डॉक्टर आपका करीबी है तो इस वक्त ये सब बेकार हैं क्यूंकि इन लोगो को खुद भी हॉस्पिटल में बेड नहीं मिल रहा हैं. इस वक्त कोई काम नहीं आनेवाला हैं. सारे पहचान बेकार हैं. लेकिन फिर भी आप किसी मुसीबत में पड़ते हो तो अपनी पहचान का फायदा ज़रूर उठाना. वो अलग बात हैं की आप कोई संसद या बहुत बड़े बॉलीवुड के सेलिब्रिटी है तो आपको कोई डर नहीं हैं. आपको मनचाहे हॉस्पिटल में हर सुविधा मिल जाएगी.

सरकारी लिस्ट में आप सिर्फ एक डेटा हो. एक ऐसा आंकड़ा जो किसी काम का नहीं हैं. अभी फेसबुक पर एक पोस्ट पढ़ी. उसमे एक लड़के ने लिखा था की ये मेरा लास्ट मेसेज हैं. पिछले पंद्रह दिनों में उसने अपने पापा को अपनी बुआ को और अपने छोटे भाई को अपनी आँखों के सामने मरते देखा हैं. और अगली सुबह उसे बताया गया की उसने अपनी माँ को भी खो दिया हैं.

अब सिर्फ मैं बचा हूँ मेरी फॅमिली में और मेरी हालत भी बेहद ख़राब हैं. अब मुझे जीने से ज़्यादा मरने का इंतज़ार हैं क्यूंकि वो ज़िंदा बच भी गया तो घर पर कोई नहीं हैं जिसके लिए वो जीवित रहे. यहाँ तक की अंत में उसने लिखा की आप सब लोग मेरे लिए दुआ करो की जब मैं मरू तो दोबारा इंसान बनकर इस दुनिया में ना आऊं.

इसलिए दोस्तों मैं भी आप सभी से यही कह रहा हूँ की अभी भी समय हैं संभल जाओ. हिंदू मुस्लिम, मंदिर मस्जिद, मेरे नेता तेरा नेता, मेरी पार्टी तेरी पार्टी करने के समय बहुत मिल जाएगा. हम इंसान है. इंसान आपस में किसी ना किसी मुद्दे के लिए तो लड़ता ही रहेगा. लेकिन इस वक्त सिर्फ अपने और अपने परिवार को बचा लो. ज़िंदा रहे तो हर मुद्दे पर लड़ लोगे वरना रख बनकर हवा में गायब हो जाओगे.

घर में रहकर कमाई नहीं हो रही. इसके लिए ऑनलाइन ऐसे काम करो की कुछ नया सिखने के साथ पैसे भी कमाओ. हर इंसान में कोई ना कोई टैलेंट होता हैं उस टैलेंट का इस्तेमाल ऑनलाइन की दुनिया में करो. क्यूंकि कोरोना इतनी जल्दी जाने वाला नहीं हैं. भले ही कितनी दवा बन जाएं. लेकिन इसकी तीसरी लहर और भी ज़्यादा घातक होगी.

कोरोना ऐसी बीमारी हैं की आप हॉस्पिटल गए तो कोई दोस्त या रिश्तेदार आपको देखने के लिए नहीं जा सकता हैं. एक तो बीमारी ऊपर से उसका डर जो मरीज़ को जल्दी ठीक होने नहीं देता. इसलिए ध्यान रखो.

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win

You may also like

More From: News

DON'T MISS