बस इतना याद रहे एक साथी और भी था…


आज पूरा देश गमगीन है। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शहादत देने वाले 40 जवानों को राष्ट्र नमन कर रहा है।  बीती रात शुक्रवार को इन जवानों के पार्थिव शरीर दिल्ली पहुंचे, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई नेताओं ने उन्हें सलामी दी। आज शहीदों को अंतिम विदाई दी जा रही है। हर कोई अपने उस साथी को याद कर रहा है जो आज हमसे बिछड़ चुका है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल यही है कि अब इन शहादत का बदला देश कैसे लेगा। आतंक के सरगना पाकिस्तान को जवाब कैसे देगा? ये देश पूछ रहा है, शहीदों के परिजन पूछ रहे हैं।

हमारी सरकार फिलहाल कूटनीति के मोर्चे पर डट गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐलान कर दिया है कि सेना को खुली छूट दे दी गई है। इसी क्रम में जैसलमेर में वायुसेना ने शुक्रवार को अपनी ताकत दिखाई। यहाँ सेना ने युद्ध अभ्यास शुरू कर दिया है। इसे वायु शक्ति एक्सरसाइज नाम दिया गया है। पोखरण फायरिंग रेज में हुए इस अभ्यास में वायुसेना ने दिन, शाम के धुंधलके और रात में अपने टारगेट को मार गिराने का अभ्यास किया। आतंक के खिलाफ देश के सभी राजनीतिक दल एक साथ नजर आ रहे हैं। शुक्रवार को सरकार और सेना के साथ एकजुट होने वाले बयान के बाद आज शनिवार को सभी दल एक बैठक में शामिल हो रहे हैं। इस बैठक में इस बात पर आम सहमति बन सकती है कि पाकिस्तान को किस अंदाज में जवाब दिया जाए। बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हैं। लेकिन सवाल यही है कि देश अब अपने शहीद साथियों कि मौत का बदला चाहते हैं।

देश आज सर्जिकल स्ट्राइक से बड़ी कार्रवाई चाहता है। देश कारगिल युद्ध कि तर्ज पर पाक को मुंहतोड़ जवाब देना चाहता है। 1971 के युद्ध में हार के बाद पाकिस्तान को इस बात का अहसास तो हो गया कि वो भारत से अब युद्ध में नहीं जीत सकता है लेकिन उसके बाद से वो लगातार साजिश और कुचक्र रचता चला गया। लगातार 40 वर्षों से भारत के खिलाफ पाक छद्म युद्ध करता चला आ रहा है। इस दौरान कश्मीर में वो नफरत की आग लगाने में कामयाब भी रहा तो गाहे- बगाहे देश के आंतरिक हिस्सों में हमला करता रहा। मुंबई से लेकर उरी हमले पाक की इसी साजिश का हिस्सा रहे हैं।

जम्मू- कश्मीर के आईजी की एक चिट्ठी बताती है कि कश्मीर पुलिस ने 8 फरवरी को सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी, सेना और वायु सेना को आईईडी हमले की खुफिया सूचना दे दी थी. हालांकि, अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि इतनी संवदेनशील सूचना दिए जाने के बावजूद सीआरपीएफ ने 2,547 सुरक्षा बलों के साथ 78 गाड़ियों के काफिले को इजाजत कैसे दी गई। सवाल यही है कि खुफिया जानकारी मिलने के बावजूद इतनी बड़ी घटना कैसे हुई और इंटेलीजेंस के स्तर पर कहां चूक हुई? आखिर घर के जयचंद कौन हैं जिन्होने कश्मीर में ऐसे हालात पनपने दिये।

शुरुआती जांच के मुताबिक, दक्षिण कश्मीर के त्राल इलाके में फिदायीन हमले की योजना बनाई गई थी। पुलिस फिलहाल जैश के उन स्थानीय ओवरग्राउंड वर्कर्स की तलाश कर रही है जिन्होंने सीआरपीएफ के काफिले की सूचना जैश को पास की। उस हैंडलर की तलाश भी तेज है जिसने जैश के फिदायीन हमलावर आदिल अहमद डार को विस्फोटक मुहैया कराया था। डार ने ही विस्फोटकों से भरी अपनी टाटा सूमो गाड़ी को जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर सीआरपीएफ की एक बस में टक्कर मारकर विस्फोट कर दिया था। जैश ने इसके बाद भारत को सीधी चुनौती देते हुए हमले की जिम्मेदारी लेते हुए डार का एक वीडियो क्लिप भी जारी की। ये भारत के खिलाफ युद्ध नहीं तो और क्या है?

फिर भी इतने हमलों के बावजूद हमारे हजारों सैनिक अपनी कुर्बानी देने में पीछे नहीं रहे। देशवासी अपने सपूतों को सेना में भेजता रहे और हमारे साथी देश की रक्षा में कुर्बान होते गए। लेकिन अब समय कुर्बानी देने का नहीं बल्कि सबक सिखाने का है।

ऐसे में भारत को अब पूरे विश्व को पाकिस्तान के खिलाफ एकसाथ लेना होगा। ये पहल हो चुकी है। चीन को भी अब उसी की भाषा में समझाना होगा। पुलवामा हमले पर अमेरिका ने भारत के रुख का समर्थन किया है। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बॉल्टन ने कहा है कि आत्मरक्षा करना भारत का अधिकार है। सऊदी अरब के किंग मोहम्मद बिन सलमान ने अपना पाकिस्तान दौरा टाल दिया। अब वह शनिवार को पाकिस्तान के दो दिवसीय दौरे पर जाएंगे जबकि तय कार्यक्रम के मुताबिक, उन्हें 16 फरवरी को इस्लामाबाद पहुंचना था। बता दें कि सऊदी ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले की भी निंदा की है। रूस, फ्रांस, यूरोपीय देश भी भारत के साथ खड़े हैं। पाकिस्तान भी जानता है कि भारत उसको सबक सीखा सकता है, जरुरत अब हमें अपने साथियों को याद कर आगे बढ़ने की जिन्होने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। और पाकिस्तान को सबक सिखाने का है जिससे फिर वो ऐसी हिमाकत न कर सके।

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
1
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
1
omg
win win
0
win

You may also like

More From: Read

DON'T MISS