बॉलीवुड को निगल जाएगा नेटफ्लिक्स और आमज़ॉन प्राइम वीडियो | इंडियन प्रोडूसर्स के पास पैसे की कमी


भारतीय सिनेमा का इतिहास सौ साल से भी पुराना हैं. इन कई वर्षों में एक के बाद एक बड़े से बड़े फिल्म मेकर आये और चले गए. नब्बे के दशक तक बॉलीवुड अच्छे और बेहतरीन फिल्मो के लिए जाना जाता था. साफ़ सुथरी कहानी, पारिवारिक और सांस्कृतिक मूल्यों पर आधारित. उस दौर के वो गाने जो आज भी लोग गुन गुनाते हैं. लेकिन उस दौर को इस दौर के फिल्मकारों ने ख़त्म कर दिया.

अब फिल्मो में गाली, गंदगी, ड्रग्स, हिंदू धर्म पर टिका टिपण्णी, दो समुदाओं के बीच में नफरत फैलाना जैसी चीज़े होने लगी. उस दौर के लोग समझदार थे. लेकिन आज की युवा पीढ़ी ज़्यादा रिसर्च नहीं करती. जो दिखता हैं उसी पर यकीन कर लेती हैं. गहराई तक जाने की सोचती भी नहीं हैं. गलती युवा पीढ़ी की भी नहीं हैं सोशल मीडिया के ज़माने में इतना समय कहा हैं की किसी बनी बनाई फिल्म पर इतना रिसर्च करें.

आज के दौर में बॉलीवुड में यशराज फिल्म्स, धर्मा प्रोडक्शन, साजिद नाडियाड वाला, जैसे कुछ बड़े प्रोडक्शन हाउस ही बॉलीवुड पर अपना दबदबा रखते थे. लेकिन सुशांत की मौत और कोरोना के करण लोगो को ये पता चल गया की असली खिलाडी ये लोग नहीं हैं. इनसे ऊपर भी कोई है जिसका मुकाबला ये लोग नहीं कर सके हैं.

करण जौहर की धर्मा प्रोडक्शन की आठ बड़ी फिल्मे इस उम्मीद में लटकी पड़ी हैं की कोई इन्वेस्टर उन्हें मिल जाये तो उनकी फिल्म पूरी हो जाएं. फॉक्स स्टूडियोज डिज्नी हॉटस्टार के साथ मिला तो करण को पैसे मिलना बंद हो गया. लायका प्रोडक्शन ने अपने हाथ खींचे तो करण जौहर की बाकी फिल्मे भी रूक गयी. ऐसे में करण दिन रात म्हणत कर रहे हैं की कोई उनकी फिल्मो में पैसे लगा दें. मुकेश अंबानी की जिओ स्टूडियोज से बात चल रही हैं लेकिन कन्फर्म कुछ भी नहीं.

अब बॉलीवुड का सारा गेम विदेशी कंपनी के हाथ में हैं. जो खुद पैसे लगा रहे हैं और अपने तरीके से फिल्मे बनाएंगे. क्यूंकि तांडव वेब सीरीज विवाद के बाद आमज़ॉन प्राइम वीडियोस ने कह दिया हैं की वो अपने तरीके से काम करनेवाले है. यानी आनेवाले समय में बॉलीवुड का राजनीती और दबंगयी वाला अस्तित्व खत्म हो जाएगा.

नेटफ्लिक्स और आमज़ॉन प्राइम वीडियो ये इस वक्त के दो बड़े खिलाडी हैं. दोनों ही कंपनियों ने कोरोना के दौर में दोनों हाथ से पैसे बटोरे हैं.करोडो नहीं बल्कि अरबो में वो. अमेज़न प्राइम वीडियो की इनकम 2019 में करीब 868 अरब रुपये थी जो साल 2020 में बढ़कर 1594 अरब रुपये हो गई है। अमेजन ने दुनिया भर में बीते साल 823 अरब रुपये अपने ओटीटी के लिए कंटेंट जुटाने पर चुटकियों में खर्च कर दिए।

नेटफ्लिक्स ने साल 2020 में ऑनलाइन कंटेंट पर 883 अरब रूपये खर्च कर डाले हालाँकि साल 2019 में ये तकरीबन 1040 अरब था. दोनों ही ओट पलटफोर्म इस वक्त पूरा फोकस इंडियन सिनेमा पर कर रहे हैं. इसलिए बड़े बड़े एक्टर बॉलीवुड के जाने माने प्रोडक्शन का हाथ छोड़ इनके साथ जुड़ रहे. अभी शहीद कपूर ने भी धर्मा का साथ छोड़ ऐमज़ॉन का हाथ पकड़ लिया हैं. क्यूंकि धरमा अभी इस कंडीशन में नहीं हैं की वो अपनी रुकी फिल्म शूट करवा सकें.

इन चीज़ो को देखकर आप यकीन कर सकते हैं की आनेवाला समय बॉलीवुड के लिए और भी ख़राब हैं. एक्टर्स के लिए नहीं. बल्कि कारण जौहर जैसे प्रोडक्शन हाउस के लिए. कलाकारों का क्या जहा पैसा मिलेगा वहा काम करेंगे.

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win

You may also like

More From: News

DON'T MISS