२ साल में पूरी तरह से बर्बाद हो जायेगा बॉलीवुड | आँख खोल देनेवाला सच सिर्फ एक चीज़ बचा सकती हैं


हर दिखनेवाली चीज़ सोना नहीं होती और हर व्यूज इस बात की गारंटी नहीं लेता हैं की सामनेवाले ने आपका वीडियो पूरा देखा हो. सिर्फ पांच -दस सेकंड किसी वीडियो पर रूक जाओ तो वो एक व्यूज में काउंट हो जाता हैं. इसका मतलबा ये नहीं हैं की वीडियो को एन्ड तक किसी ने देखा ही होगा.

सलमान खान की राधे का आपने कई पोस्टर देखा होगा की एक ही दिन में चालीस मिलियन व्यूज मिले. सिनेमाघर से ज़्यादा रिकॉर्ड तो सलमान की फिल्म ने ऑनलाइन तोड़ दिया हैं. तरह तरह के क्रिएटिव पोस्टर लांच किये जा रहे हैं.

लेकिन सच्चाई ये हैं की जब एक यूजर किसी OTT पर जाकर किसी फिल्म को देखता हैं तो उसके क्रेडिट को देखने में दो या तीन मिनट. अगर आपने क्रेडिट्स को स्किप कर दिया तो मान लो किसी यूजर ने आधे घंटे किसी फिल्म को देख लिए तो वो भी सिंगल व्यूज में काउंट होता हैं.

इसी तरह राधे को ज़्यादातर लोगो ने आधे घंटे से लेकर पैतालीस मिनट देखा होगा तो उसे करोड़ो का व्यूज बताकर ढिंढोरा पीटा जा रहा हैं. अगर वाकई ईमानदारी से बताना चाहते हो की कितने लोगो ने देखा तो उसके एनालिटिक्स का वीडियो शेयर करो पता चल जायेगा की राधे को कितने लोगो ने कितनी देर तक देखा हैं.

इमेज मत शेयर करना क्यूंकि उसे फोटोशॉप किया जा सकता हैं. अब आपने एक चीज़ और देखी होगी. बॉलीवुड चलता हैं PR से जिसके लिए पैसे देने पड़ते हैं. आपने जितनी भी न्यूज़ वेबसाइट के आर्टिकल को देखा होगा उन सभी ने राधे को तीन से साढ़े तीन का स्टार दिया हैं और बताया की राधे ब्लॉक बस्टर हैं. लेकिन उन्हें आर्टिकल के नीचे आप कमैंट्स को पदों आपको 95% लोग राधे को सबसे बड़ी फ्लॉप बताते हुए नज़र आएंगे.

आप मीम्स के पेजेज देख लो. वहा भी यही नज़ारा हैं. फिर आपने देखा होगा की बहुत सारी मीडिया वेबसाइट ने आर्टिकल लिखा की राधे ने पहले दिन सौ करोड़ कमाएं. फिर उसी मीडिया हाउस की दूसरी वेबसाइट पर जाकर देखो वो राधे को फ्लॉप बता रहे हैं. यानी एक ही मीडिया हाउस के एक वेबसाइट को पैसे मिले और दूसरे के लिए पैसे नहीं मिले.

ये वेबसाइट ये भी बता रहे हैं की अब सिनेमाघर की ज़रूरत नहीं. जब OTT पर इतना प्रॉफिट हैं तो फिल्म देखने का नज़रिया बदल जाएगा. और दोस्तों यही पर सबसे बड़ा झोल हैं. इस वक्त बॉलीवुड की हर PR कंपनी फेल हो चुकी हैं. पहले ये अपने हिसाब से आपको चलते थे अब आप लोग इन बॉलीवुड स्टार्स को चलते हो.

ऐसा नहीं हैं की बॉलीवुड से पूरी नफरत हैं. बॉलीवुड के वो छोटे कलाकार जो अपने दम पर सफलता तक पहुंचे हैं उनकी फिल्म आज भी लोग देख रहे हैं. लोगो को नफरत उन लोगो से है जो बॉलीवुड को अपनी जागीर समझ बैठे थे. फिल्म बनाने से कहीं ज़्यदा ये पॉलिटिक्स करते थे लोगो को फिल्म से बाहर निकाल देते थे.

मैं आज भी बॉलीवुड की उन बालक एंड वाइट फिल्मों को देखता हूँ जो वाकई में देखने लायक हैं. जो आपको जमीन से जुडी कहानीया दिखते थे. भारतीय संस्कृति की इज्जत करते थे. लेकिन आज की बॉलीवुड फिल्मे सिर्फ गन्दी और फूहड़ कॉमेडी. हिन्दू धर्म पर गलत चीज़े दिखाना. तो ये कब तक चलता. कभी तो बंद होना था.

सुशांत की मौत ने सभी की आँख खोल दी. कोरोना के चलते सिनेमाघर मालिक पहले ही बर्बाद हो चुके हैं. बॉलीवुड की बड़े स्टार वाली फिल्मों को लेकर बवाल होता हैं तो पता चलता हैं की OTT पर ये फिल्म आ रही हैं बाकी कितनी फिल्मे आयी और गयी पता ही नहीं चला.

OTT प्लेटफार्म आज मौका दे रहे हैं बॉलीवुड की फिल्मों को शायद कल ना दें. क्यूंकि उन्हें प्रॉफिट नहीं होगा तो आपको वैल्यू क्यों करें. तो आप जितने भी आंकड़े देखते हैं की किसी फिल्म को लेकर की इतने लोगो ने देखा इतना व्यूज मिला इतनी कमाई हो गयी सब बेकार की बातें हैं.

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
1
win

You may also like

More From: Bollywood Stories

DON'T MISS