बॉलीवुड को माफ़ कर दो, धीरे धीरे सब बदल जायेगा.


किसी भी देश के जो आम नागरिक होते हैं उनके भीतर बहुत बड़ी ताकत होती हैं. चाहे वो पढ़ा लिखा हो या फिर अनपढ़. मैं शारीरिक ताकत की बात नहीं कर रहा हूँ मैं उस ताकत की बात कर रहा हूँ जो दिखाई तो नहीं देती लेकिन जब वो काम करती हैं तो बड़ी से बड़ी सरकार गिराकर रख देती हैं. सुशांत सिंह राजपूत के मामले में पूरा देश एकजुट हुआ. सुशांत के साथ बॉलीवुड ने गलत किया. उन्हें अनदेखा किया. उन्हें बाहर का समझा. जब ये बात धीरे धीरे लोगो को पता चली तब लोग एक दुसरे को ना जानते हुए भी एक हो गए.

इन सभी ने एक डिसिशन लिया की बस अब बहुत हो गया. हमें बॉलीवुड का घमंड तोडना हैं किसी भी हाल में. एक के बाद एक सभी बड़े कलाकारों को बायकाट किया गया. सोशल मीडिया पर उन्हें अनफॉलो किया गया. एक तरफ सुशांत सिंह राजपूत की आख्रिरी फिल्म दिल बेचारा को सुपर हिट किया गया तो दूसरी तरफ सड़क २ में बड़ी स्टारकास्ट होने के बाद भी उसे फ्लॉप कर दिया गया. दोनों ही फिल्में होस्टर पर रिलीज़ हुयी थीं लेकिन दोनों के सुपर हिट और फ्लॉप होने में आप जनता का पूरा योगदान रहा.

बॉलीवुड का लगा शायद एक फिल्म ही तो फ्लॉप हुयी हैं इससे क्या फर्क पड़ जायेगा. लेकिन उसी बीच जया बच्चन ने आग में घी नहीं पेट्रोल डाल दिया. इसके बाद लोग इन सितारों की सोशल मीडिया पोस्ट के कमेंट सेक्शन में जाकर इन सभी को खरी खोटी सुनाने लगे. जिसका नतीजा अब धीरे धीरे सामने आ रहा हैं.

एक खबर आई की 15 अक्टूबर से महराष्ट्र में सिनेमाघर खुल जायेंगे. अब सिनेमाघर खुलेंगे तो फिल्में भी लगनेवाली हैं. और उसे देखने के लिए दर्शक भी चाहिए. वरना पूरा सिनेमाघर खाली रहेगा. अब सिनेमाघर खुला है तो पैसे कमाने के लिए ही खुलेगा. ऐसा तो है नहीं की चलती फिरती पुब्लीक को रोड से पकड़ पकड़ कर सिनेमाघर में लाया जायेगा की चल भाई भंडारा लगा हैं फिल्म देख लें.

लॉक डाउन से लेकर अब तक बॉलीवुड को 3000 करोड़ का नुकसान हो चुका हैं. अब देश की जनता इस मूड में नहीं हैं की वो इन सितारों को वापस अपने सर पर बैठाये. और इन्हें अमीर बनाये. तो सोच लो अगर अब सिनेमाघर खुलने के बाद भी लोग फिल्म नहीं देखेंगे तो कितने करोडो का नुकसान होगा. एक छोटे स्टार की लो बजट फिल्म 20-30 करोड़ कमा लेती हैं और बड़े स्टार्स की कम से कम 250-300 करोड़.

इन सितारों की ताकत आम जनता से हैं. उसके बाद भी ये आम जनता को भाव तक नहीं देते. अब जब 15 अक्टूबर से सिनेमाघर खुल जायेंगे तो सबसे पहले दिवाली पर अक्षय कुमार की फिल्म आनेवाली हैं laxmi bomb तो भैया अक्षय कुमार ने अभी से तयारी शुरू कर दी हैं. तीन महीने एक उनके दिल में ये बात नहीं आई की उन्हें अपने दिल की बात करनी हैं. अब उन्हे बॉलीवुड में नेपोटिस्म, सुशांत सिंह राजपूत और ड्रग्स सभी पर बात करनी हैं. इस वीडियो को देख लो फिर बात करते हैं.

एक कहावत है ना की अब पछतायें होता का जब चड़िया चुग गयी खेत. और यहाँ तो खेतो में आग लग चुकी हैं. फसल जल चुकी हैं. अब अक्षय कुमार लुभाने की कोशिश कर रहे हैं की आप उनकी बात सुनो और उनकी फिल्म देखने जाओ. अब अक्षय हो या सलमान या फिर अमिताभ. आम जनता ने इन सभी का रंग रूप देख लिया हैं. अब ये सितारे जनता का रंग रूप देखेंगे.

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win

You may also like

More From: News

DON'T MISS