हीरो से विलेन बने सोनू सूद | चुनाव आयोग ने वोटिंग ऑईकॉन से हटाया


कोरोना के पहली सोनू सूद को लोग बस इतना जानते थे की वो बॉलीवुड और साउथ की फिल्मो में एक विलेन के तौर पर काम करते हैं. लेकिन कोरोना काल में दो बार के लॉक डाउन में सोनू सूद हीरो बनकर उभरे. लोगो ने कहा अब सोनू विलेन नहीं हीरो हैं.

सोनू सूद के इसी काम को देखते हुए चुनाव आयोग ने उन्हें वोटिंग ऑईकॉन बनाया था. सोनू सूद को मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए पंजाब का स्टेट आईकॉन नियुक्त किया गया था. लेकिन अब जिस तरह से सोनू सूद राजनीती में घुस रहे हैं उसे देखते हुए उन्हें इस पद से हटा दिया गया हैं.

सोनू सूद ने खुद चुनाव नहीं लड़ रहे हैं बल्कि उनकी बहन पंजाब के मोगा चुनाव लड़ना चाहती हैं. क्यूंकि वो राजनीती में आकर समाज सेवा करना चाहती हैं. हालांकि राजनीती में जनता की सेवा लोग कम करते हैं खुद की सेवा ज्यादा करते हैं. सोनू लगभग हर पार्टी से मिले. खासकर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी से इन्हे दो पार्टियों से अपनी बहन के लिए टिकट चाहते हैं.

खैर सोनू सूद को जिस काम के लिए लाया गया था वो पूरा नहीं हुआ. हालाँकि सोनू सूद का काम ज़रूर पूरा हो गया हैं.


Like it? Share with your friends!

165

You may also like

More From: News

DON'T MISS