सब जानते हैं कंगना को क्या-क्या चाटने से पद्मश्री मिला शिवसेना MP. के बिगड़े बोल


कंगना रनोट को पदमश्री मिलना कई लोगो के लिए हज़म नहीं हो पा रहा हैं. इसी बीच कंगना ने अज़ाइड और महात्मा गाँधी जी पर भी कई बातें बोली हैं जिसके चलते अब कंगना को सिर्फ गालीया ही नहीं मिल रही हैं बल्कि ऐसी ऐसी बातें बोली जा रही हैं जो आप सोच भी नहीं सकते हैं.

शिवसेना के संसद हैं कृपाल तुमाने एक इंटरव्यू में क्या कहा वो सुनिए ” महात्मा गाँधी जी अगर सत्ता के लालची होते तो उस समय प्रधानमंत्री-राष्ट्रपति सब कुछ बन सकते थे। कंगना रनौत को क्या करके पद्म श्री मिला, किसके पाँव चाटने से, क्या-क्या चाटने से ये मिला है इसे दिल्ली के सभी सांसद, विधायक बहुत अच्छे से जानते हैं। दिल्ली में लॉबिंग करने वाले लोग भी जानते हैं। ऐसी लेडी के बारे में बोलना तुच्छपना होगा। ऐसी तुच्छ लेडी के बारे में मैं कुछ नहीं बोलना चाहूँगा।”

इससे पहले एक कांग्रेस नेता ने कहा था ““वह महात्मा गाँधी पर टिप्पणी करने के लायक नहीं है। वह एक ‘नचनिया’ है, जिसे विवादास्पद लोगों में से एक माना जाता है। महात्मा गाँधी पर उनकी टिप्पणी सूरज पर थूकने के समान है। अगर आप सूरज पर थूकते हैं, तो थूक आप पर पड़ता है।”

सपा नेता अबू आजमी ने कंगना को ‘तलवे चाटने वाली औरत’ बताते हुए कहा था कि उसे जेल भेज देना चाहिए।

कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता विनय ओझा ने एक ट्वीट में लिखा था, “पुरस्कार भीख में मिल गया तो भिखारन ने सोचा होगा कि आजादी भी भीख में मिली होगी।”

वहीं एक अन्य ट्वीट में ओझा ने लिखा था, “पद्मश्री को पाना इतना आसान नहीं, जितना आप सोच रहे हैं। बहुत मेहनत करनी पड़ती है… जब राजा चरित्रहीन होता है तब तवायफों के कोठे गुलजार होते हैं।”

मोदी सरकार ने मानसिक बीमार कंगना रनौत को पद्मश्री देकर संविधान, जनतंत्र और स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान किया है। पद्मश्री छीनकर इस पागल को गिरफ़्तार किया जाए।”

अब आप ये सोचिये विपक्ष को कंगना की बात तो बुरी लगती हैं लेकिन वीर दास जैसे लोगो की बात बुरी नहीं लगती. लेकिन जो बात वीर दस ने कही वही अगर कंगना ने कही होती या किसी और ने तब विपक्ष का सोशल मीडिया पर युद्ध आप देख सकते थे.


Like it? Share with your friends!

202

You may also like

More From: News

DON'T MISS