वल्गर गाने बिना बॉलीवुड नहीं चल सकता | सेंसर बोर्ड माल फूंक सो रहा होता


बॉलीवुड की फिल्म में अगर गाने ना हो तो फिल्म अधूरी लगती हैं. ठीक वैसे जैसे चाय में अगर शक्कर ना हो, फूलो में सुगंध ना हो. कई गाने बेहतरीन बनते हैं लेकिन कुछ गाने अश्लीलता की हर सीमा को पार कार जाते हैं जिसे आप फॅमिली के सामने सुन तक नहीं सकते. लेकिन आपने देखा होगा जाने अनजाने में आपके घर के बच्चे भी उस गाने को गाते हुए नज़र आ जाते हैं.

साल 1975. एक फिल्म आयी थीं धर्म करम फिल्म को रणधीर कपूर ने बनाया था जो करीना के पिताजी हैं. इस फिल्म का एक बेहतरीन गाना है. इक दिन बीक जायेगा माटी के मोल जग में रह जायेंगे प्यारे तेरे बोल.

लेकिन यहाँ पर इस गाने की बात नहीं हो रही. इसी फिल्म का एक गाना और हैं. इस गाने के पहले एक सीन है जिसमे रेखा दरजी की पिटाई करते नज़र आ रही हैं. इसी बीच रणधीर कपूर आते है और कहता है क्या हुआ. तो रेखा कहती हैं ये दरजी मेरा कपड़ा खा गया.

जिस पर दरजी कहता हैं. मै क्या करू. ये जवान हो गयी हैं. इसके दिए कपडे कम पड़ गए. अब सीन के हिसाब से रणधीर कपूर समझ जाते हैं यानी यहाँ पर ये बताने की कोशिश की गयी की रेखा जवान हो गयी हैं और उनकी ब्रैस्ट का साइज़ बढ़ गया हैं. अब आप इस गाने की लाइन की सुनिए और जाकर हर उस सीन को देखिये जो इस गाने पर फिल्माया गया हैं.

तो गाने की लाइन ऐस हैं.

नहीं समझी रे तू एक सीधा सवाल समझाता हु मै तुझे देकर मिसाल
हे बात थी यार एक बेर की बढ़ के हो गयी सवा शेर की

अब इस गाने की लाइन मै आगे पढ़कर नहीं सुना सकता. क्यूंकि ये गाना बहुत गंदा हैं. राजकपूर की फिल्मो में ये सब पहले से होता आया हैं लेकिन उस वक्त कोई इतना ध्यान नहीं देता था. सोशल मीडिया का ज़माना नहीं था इसलिए सब चल जाता था.

लेकिन एक औरत के जिसमे को किस किस तरह से एक गाने का सहारा लेकर दर्शया गया हैं ये वाकई फूहड़ हैं. और इस तरह के सीन की शायद कोई ज़रूरत भी नहीं थी. लेकिन चलता है सब तो चलने दो. यही काम किसी छोटे फिल्मकार ने किया होता तो शायद इसे बी ग्रेड फिल्म की केटेगरी में डाल देते. लेकिन फिल्म राजकपूर की थीं तो कौन रोकता उस दौर में.

सरका लियोन खटिया ज्यादा लगे ..जाड़े में बलमा प्यारा लगे. इस गाने में गोविंदा और करिश्मा कपूर जिस तरह की परफॉरमेंस दे रहे हैं मेरे ख्याल से ये फॅमिली के साथ बैठकर तो आप देख नहीं सकते.

जूही चावला वैसे तो 5G. का विरोध कर रही हैं उन्हें देश के लोगो की बड़ी चिंता हैं लेकिन खुद की फिल्म में जो अश्लील गाने पर परफॉरमेंस दे रही हैं उस अश्लीलता से क्या देश सुधर जाएगा. गाना क्या हैं.

एक लड़की अगर ये गाना गए रही हैंये माल गाडी तू धक्का लगा. गर्म हो गया इंजन इसको धक्के देते जा. मतलब यहाँ पर मालगाड़ी जूही चावला हैं और ड्राइवर अनिल कपूर.

उसके बाद अनिल कपूर गाते हैं.ये माल गाड़ी मै ड्राइवर तेरा थोड़ा रुक जा .. थोड़ा रुक जा चालु करूंगा इंजन इसका तू डरती है क्या ?

इसके बाद जूही गाती हैं वक्त है कम और लम्बा सफर तू रफ़्तार बढ़ा दें मंजिल पर पंहुचा दें. आप इस गाने को पूरा देखेंगे तो कहेंगे वाह जी वाह अश्लीलता की पूरी कहानी को शब्दों में किस प्रकार खेला गया हैं.

फिर भाग डीके बोस वाला गाना. फिर एक गाना और था दिन में लेती है रात में लेती है
सुबह को लेती है शाम को लेती है.

आज भोजपुरी और बॉलीवुड के कई ऐसे गाने है जिसने अश्लीलता की सारी सीमाएं पार कर दी है. लेकिन चलता हैं. इसमें किसी को कोई प्रॉब्लम नहीं हैं. प्रॉब्लम तब होती हैं जब वो ऐसी फिल्मे या गाने अपने घर वालो के साथ बैठकर देख नहीं सकते.


Like it? Share with your friends!

184

You may also like

More From: Entertainment

DON'T MISS