राम मंदिर का विरोध करनेवाले अब जय श्री राम बोल माथा टेक रहे | गिरगिट भी फ़ैल है इनके सामने


विपक्ष बीजेपी पर हर वक्त एक निशाना लगता रहता था की मंदिर वही बनाएंगे लेकिन तारीख नहीं बताएँगे. बसपा और सपा जब एक साथ आयी तब भी राम मंदिर का विरोध हुआ और इन दोनों पार्टियों ने नारा दिया मिले मुलायम- कांशीराम, हवा में उड़ गए जयश्री राम.

जब राज जन्मभूमि का केस जीत गए तब विपक्षी पार्टीया कहने लगी की वहा मंदिर बनाने से बेहतर है स्कूल और हॉस्पिटल बना दो. लोगो को मंदिर की नहीं इन चीज़ो की ज़रूरत हैं. यानी राम मंदिर पर सवाल खड़े करना. श्री राम के नाम का मज़ाक बनाना. ये सभी काम राजनीतिक पार्टीया कर रही थीं.

अब ये जितने भी गिरगिट थे सब बदल गए. क्यूंकि उत्तरप्रदेश में अगले साल हो रहा हैं विशानसभा चुनाव. आम आदमी पार्टी इस बार सभी सीटों पर लड़ने वाली हैं. इसलिए मंदिर के चक्कर लगाए जा रहे हैं. अखिलेश यादव भी मंदिर में माथा टेक रहे हैं. भगवा वस्त्र धारण कर लिया हैं. लेकिन भूल गए की उनके पिता मुलायम ने किस तरह से कारसेवकों पर गोलिया चलवाई थीं.

अब अरविन्द केजरीवाल और उनकी पार्टी राम मंदिर के खिलाफ थीं अब वहा पर लालच दे रही हैं की दिल्ली के बुजुर्गो को फ्री में राम मंदिर दर्शन करायेगी. यानी फ्री का लालच देकर दिल्ली का कबाड़ा किया हैं अब उत्तरप्रदेश का कबाड़ा करने का प्लान हैं लेकिन वहा के लोग इतने बेवक़ूफ़ नहीं हैं.

मतलब राजनीती में गिरने की कोई हद नहीं होती. हमारे राहुल बाबा देवी देवताओं की कोई तस्वीर डालते हैं तो फोटो क्रॉप कर देते हैं. वायनाड जाते हैं तो मुस्लिम बन जाते हैं अब उत्तरप्रदेश में चुनाव आ रहा हैं तो फिर से मंदिरो के चक्कर लगाने शुरू हो चुके हैं. अभी वैष्णो देवी गए थे. लेकिन वहा पर माता के जयकारे लगाने की जगह इनके कार्यकर्ता राहुल गाँधी ज़िंदाबाद के नारे लगा रहे थे.

मतलब कल तक जो हिन्दू विरोधी थे. राम मंदिर विरोधी थे अब जय श्री राम के नारे लगा रहे हैं. लेकिन इस वक्त बीजेपी उत्तरप्रदेश में काफी मजबूत हैं. यदि आदित्यनाथ फिर से जीतकर आएंगे. क्यूंकि उत्तरप्रदेश में अब तक सपा और बसपा ने क्या काम किया था ये हर कोई जानता हैं.

लेकिन योगी जी के सीएम बनाने के बाद वहा पर काफी कुछ बदला हैं. क्राइम रेट जो पहले बहुत ज़्यदा था अब थोड़ा कम हो गया हैं. गैंगेस्टर और माफिया का दबदबा समापति की कगार पर हैं. इलेक्ट्रिसिटी मुश्किल से चार पांच घंटे मिला करती थीं अब चौबीस घंटे मिल रही हैं. सड़को का काम तेजी से हुआ. स्वच्छ भारत के तहत अब हर घर में शौचालय बन गया तो जनता सब याद रखती हैं.

सबसे बड़ा मुद्दा राममंदिर हैं जिसे लेकर हर कोई भुनाने की तैयारी में हैं लेकिन सभी को पता की राम मंदिर की लड़ाई सिर्फ बीजेपी ने लड़ी हैं.इसलिए कोई कितना भी ढोंग कर ले. टिका लगा ले. भगवा वस्त्र पहन लें किसी की दाल नहीं गलेगी.


Like it? Share with your friends!

228

You may also like

More From: News

DON'T MISS