‘मुसलमान एक्टर शाहरुख खान का बेटा है… इसलिए आर्यन खान को बनाया जा रहा निशाना’ विक्टिम कार्ड खेलना शुरू


बॉलीवुड की फिल्मो में एक्टिंग करके जिस तरह से पैसे कमाए जाते हैं ठीक उसी तरह कुछ लोग ऐसे भी है जो हर बात में हिन्दू मुस्लिम खोज लेते हैं. शाहरुख़ खान का लड़का इंडिया में रहता हैं. ड्रग्स पार्टी में पकड़ा गया उसके साथ कई लोग पकडे गए. लेकिन अब यहाँ पर लोग मुस्लिम विक्टिम कार्ड खेलते देखे जा रहे हैं.

बाप खाएं पांच रुपए वाला पान मसाला और बेटा फुंके चरस ये तो सरासर नाइंसाफी है. खुद का बेटा चरस-गांजा फूंक रहा है और बाप BYJU’S App पर दूसरों के बच्चो को ऑनलाइन Learning सिखा रहा है.

अगर आर्यन खान एक मुस्लिम बाप का बेटा हैं तो उसे पैदा करनेवाली माँ तो हिंदू हैं. ये वही लोग है जब शाहरुख़ घर में गणपति रखते हैं तब वो काफिर हो जाता हैं लेकिन बेटा ड्रग्स मामले में पकड़ा जाता हैं तो मुस्लिम बन जाता हैं.

क्या बोल रहे लोग उसे सुनो.” श्याम मीरा सिंह नाम के एक पत्रकार हैं न्यूज़ क्लीक में जॉब करते हैं पहले आज तक में थे उनका ये कहना हैं की “शाहरुख़ के बेटे आर्यन को सिर्फ़ पूछताछ के लिए डिटेन किया गया है, अरेस्ट नहीं किया गया है. ना उनपर अभी कोई आरोप है. लेकिन पूरा गोदी मीडिया मुसलमान और सेलिब्रिटी होने के चलते पीछे लग गया है. अभी अड़ानी के यहाँ 19 हज़ार करोड़ की ड्रग पकड़ी गई. लेकिन कहीं कोई रिपोर्ट नहीं होने दी गई.

आफरीन नाम की एक यूजर लिखती हैं “आर्यन ख़ान को सिर्फ़ इसलिए निशाना बनाया जा रहा है कि वो मुसलमान एक्टर शाहरुख़ ख़ान का बेटा है.

वैसे ये लोग वो हैं जो हर गलत काम में सपोर्ट करते हैं ऐसे ब्लू टिक बकलोल लोगो की संख्या बहुत हैं. राज कुंद्रा तो मुस्लिम नहीं था ना लेकिन उसे भी अरेस्ट किया गया. गुनाह करनेवाला सिर्फ गुनेहगार होता हैं. उसमे हिंदू मुस्लिम खोजनेवाले इनकी घटिया मानसिकता दिखाती हैं की अगर उनका पसंदीदा कोई हैं अगर उसने गुनाह किया हैं तो वो गलत हैं. गोदी मीडिया उसे बदनाम कर रही हैं.

कई लोग हैं जो अडानी पोर्ट पर ड्रग्स पकडे जाने को लेकर अडानी को टारगेट कर रहे हैं. अरे भाई अडानी पोर्ट पर मिला तो वो अडानी का हो गया. अगर कल को जवाहर लाल नेहरू पोर्ट तरसत यानी की JNPT पर मिल जाये तो क्या वो ड्रग्स नेहरू जी का हो गया. ऐसी कई चीज़े एयरपोर्ट, बंदरगाह हर जगह पकड़ी जाती हैं.

और जिन्हे ये लग रहा हैं की एनसीबी मोदी के कहने पर आर्यन खान को अरेस्ट कर परेशान कर रही हैं. तो उस हिसाब से अडानी तो मोदी के करीबी हैं फिर एनसीबी में इतनी ताकत कहा की वो अडानी पोर्ट पर पकडे गए ड्रग्स का खुलासा करती. वो तो नहीं करती ना. मतलब चुनाव जीती तो लोकतंत्र की जीत हैं और चुनाव हारे तो EVM. में गड़बड़ी हैं.

इन लोगो का लॉजिक इतना महान होता हैं की सिर्फ हंसना आता हैं. की दुनिया में ऐसे भी बेवक़ूफ़ लोग होते हैं. EVM. में गड़बड़ी करके जीतना होता तो बीजपी वेस्ट बंगाल भी जीत लेती. तो भाई ऐसे महामूर्खों को समझाना मतलब पथ्तर पर सर मारने जैसा हैं.


Like it? Share with your friends!

271

You may also like

More From: News

DON'T MISS