बॉलीवुड में मौत पहले आत्महत्या अब हार्ट अटैक ? सिर्फ ओउटसाइडर ही क्यों ?


मिर्ज़ापुर में ललित का किरदार करनेवाले ब्रह्मा मिश्रा अब इस दुनिया में नहीं रहे. वजह बताई जा रही हैं की उन्हें दिल का दौरा पड़ा था. उनकी बॉडी दो दिन तक बाथरूम में ही पड़ी सड़ती रही. घर में अकेले रहते थे. उनके साथ काम करनेवाले लोगो ने बताया की वो कभी किसी बात का टेंशन नहीं लेते थे. खुश रहनेवाले इंसान थे.

तो ये क्या वजह हैं की उन्हें हार्ट अटैक आया वो भी 35 साल की उम्र में ? एक वक्त था जब बॉलीवुड में किसी भी कलाकार की मौत होती थीं तो वो आत्महत्या बता दी जाती हैं. ये बोलकर की वो डिप्रेशन में था उसने आत्महत्या कर ली अब नयी चीज़ हार्ट अटैक.

सुशांत सिंह राजपूत, दिव्या भारती, दिशा सालियान, जिया खान, परवीन बॉबी, कृतिका चौधरी, समीर शर्मा, ओम पुरी ये सब के सब किसी ना किसी तरह संदिग्ध हाल में ही मिले. अब आप सोचिये इसमें से जितने लोग हैं सब घर में अकेले ही रहते थे इस तरह की बात हर मौत के बाद सुनने को मिली.

ओम पूरी इतने बड़े एक्टर थे उनकी बॉडी दो दिन तक घर में पड़ी रही. ये बताया गया की वो घर में अकेले रहते थे. क्या ये मज़ाक हैं. इतना बड़ा एक्टर जिसके पास पैसे की कमी नहीं वो घर में अकेला रहता था. घर में नौकर नहीं रख सकता था. ये भी बताया गया की उन्होंने शराब पी रखी थीं.

परवीन बाबी वो भी घर में अकेले रहती थीं. मौत से कुछ दिन पहले वो घर में अकेले रहने लगी थीं वैसे परवीन बाबी का किसके साथ रिश्ता था ये भी बताने की ज़रूरत नहीं हैं. इस तरह के केस में जो भी बॉडी मिलती हैं उसकी जांच पड़ताल नहीं की जाती हैं. पुलिस के पास इतना टाइम नहीं हैं.

आत्महत्या के केस में तो बात ही भूल जाओ और अगर ये बात भी सामने आयी की किसी के चलते उसने आत्महत्या की हैं तो भूल जाओ की आज तक किसी को इस मामले में सजा हुयी है. हां सामनेवाला अगर पैसे वाला हैं तो कुछ दिन तक पुलिस अपने हिसाब से जांच पड़ताल करके केस रफा दफा कर देती हैं.

सुशांत केस देख ही रहे हो चाहे पुलिस हो, सीबीआई, ED, एनसीबी, सब के सब गायब हो गए. एनसीबी को भी बॉलीवुड वाले केस से हटाना था और मीडिया की नज़रो से भी तो वो लोग भी गायब हो गए. अब बताओ बॉलीवुड में महेश भट्ट की बेटी शाहीन भट्ट, शाहरुख़ का लड़का आर्यन बताया जा रहा वो भी डिप्रेशन में है, आमिर खान की बेटी वो भी डिप्रेशन में हैं.

मतलब बॉलीवुड में जितने बड़े लोग हैं अगर उनकी फॅमिली से किसी को डिप्रेसिव हुआ तो वो कुछ नहीं करते क्यूंकि वो लोग बहुत स्ट्रांग हैं लेकिन उसी बॉलीवुड से कोई ओउटसाइडर डिप्रेशन में जाये तो वो आत्महत्या कर लेता हैं. बॉलीवुड में जो मरने की कगार पर हैं उन्हें हार्ट अटैक नहीं आता लेकिन 30-35. साल के एक्टर्स को हार्ट अटैक आ जाता हैं और सभी की बॉडी एक ही हॉस्पिटल में जाती हैं. कमाल हैं ना ?

वैसे ब्रह्मा कुमार के केस में ये बताया जा रहा की वो गैस की प्रॉब्लम के चलते डॉक्टर के पास गए थे और दवाई लेकर सो गए जबकि उन्हें हार्ट अटैक आया था. लेकिन सवाल ये हैं की हार्ट अटैक आता हैं तो क्या डॉक्टर को पता नहीं चला और उतने दर्द में वो डॉक्टर के पास गए कैसे ?


Like it? Share with your friends!

187

You may also like

More From: Bollywood Stories

DON'T MISS