बॉलीवुड ने कहा हम ड्रग्स के खिलाफ | बॉलीवुड लाता है समाज में सुधार | हमसे अच्छा कोई नहीं


जब आप बड़े उदास हो और अचानक से ऐसी कोई हेडलाईन आपके सामने आ जाये तो ये ड्रग्स से भी ज़्यादा खतरनाक हो जाता हैं. बॉलीवुड कह रहा हैं की हम ड्रग्स के खिलाफ हैं. हमारे चलते समझ में कई बदलाव आते हैं. अब बताओ ऐसी पंच लाइन आएगी तो हंसना तो आता ही हैं.

सुभाष घई ने जो तस्वीर शेयर की है, उसमें आप देख सकते हैं कि ड्रग्स बैन करने को लेकर एक मुहीम चलाई गयी. इस मुहीम में कई बड़ी हस्तियां शामिल हुईं. सुभाष घई लिखते हैं.

1990 में हमारा मीडिया इसका गवाह बना था कि सुभाष घई द्वारा आयोजित कार्यक्रम में गुलशन, जितेंद्र, विनोद खन्ना, आमिर खान, अमिताभ बच्चन, मिथुन दा, जैकी, डिंपल, शबाना, टीना, पद्मिनी कोल्हापुरी जैसे वीआईपी ने एक साथ एक स्वर में ड्रग्स के खिलाफ विरोध किया. हम अभी भी ड्रग्स के खिलाफ विरोध करते हैं. भगवान हमारे बच्चों को राक्षसों से बचाए.

अब बताओ ये बॉलीवुड का कैसा विरोध हैं की जब भी कोई ड्रग्स वाले मामले में पकड़ा जाता हैं तब ड्रग्स का विरोध करने की जगह पर लोग मीडिया को गाली देने लगते हैं की हमें बदनाम कर रहे हो. आर्यन ड्रग्स मामले में पकड़ा गया हर कोई उसे छोटा दूध पीटा बच्चा बताने में लगा. आर्यन की जो उम्र हैं उस उम्र में लोगो के दो दो बच्चे हो जाते हैं और ये उसे छोटा सिर्फ 23. साल का बच्चा बता रहे हैं.

अश्लील फिल्म बनाकर कौन सा समाज को जागरूक करते हो. हिन्दू धर्म पर अपना प्रोपोगंडा फैला कर कौन सा समाज को जागरूक करते हो. सेक्स रैकेट, ड्रग्स का मामला इन बातों से कौन सी जागरूकता आती हैं भाई. बॉलीवुड शायद समाज शब्द को ही गलत समझ बैठा हैं. उनके लिए बॉलीवुड ही समाज शब्द का दूसरा रूप हैं.

जो ड्रग्स मामले में आर्यन खान का विरोध करने की जगह गलत बताने की जगह उसका साथ दे रहे हैं वो बॉलीवुड ड्रग्स के खिलाफ कैसे हो सकता हैं. कभी नहीं. नशा, ड्रग्स और अश्लीलता बॉलीवुड की रगो में भीतर तक दौड़ रहा हैं.


Like it? Share with your friends!

224

You may also like

More From: News

DON'T MISS