नवाब मालिक ने जो लेटर शेयर किया वो बॉलीवुड की स्क्रिप्ट लगती हैं लोगो ने किया ट्रोल


समीर वानखेड़े और एनसीबी पर एक नया आरोप लगाते हुए नवाब मालिक ने एक नया लेटर ट्विटर पर शेयर किया हैं उनका ये कहना है की एनसीबी एक एक कर्मचारी ने उन्हें भेजा हैं. जिस पर लोग ये बोल रहे है कितनी हैरानी की बात हैं की ये लीटर उस बिना नाम वाले NCB. कर्मचारी ने अपने सीनियर्स अफसर को ना भेजकर नवाब मालिक को भेजा हैं.

नवाब मालिक लिखते हैं :“ये उस लेटर का कंटेंट है जो मुझे एक अनाम एनसीबी अधिकारी ने लिखी है. एक जिम्मेदार नागरिक की तरह मैं इस चिट्ठी को डायरेक्टर जनरल नारकोटिक्स को भेज रहा हूं. मेरी उनसे गुजारिश है कि वो लेटर को समीर वानखेड़े के खिलाफ हो रही जांच में शामिल करें.”

अब लेटर में क्या लिखा वो सुनिए : “मैं नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो का एक कर्मचारी हूं. पिछले दो वर्षों से मुंबई कार्यालय में कार्यरत हूं. पिछले वर्ष जब NCB को सुशांत सिंह राजपूत मामले में ड्रग एंगल से जांच सौंपी गई थी, तब गत महानिदेशक राकेश अस्थाना ने एसआईटी का गठन किया था.

इसमें अपने चेले कमल प्रीत सिंह मल्होत्रा को प्रभारी बनाया. साथ में Directorate of Revenue Intelligence (DRI) मुंबई में काम कर रहे समीर वानखेड़े को भी लाया गया. उसे गृहमंत्री अमित शाह के कहने पर NCB मुंबई में Zonal Director के पद पर जॉइन करवाया गया.

राकेश अस्थाना, जो सबको मालूम है कि कितने ईमानदार अफसर हैं, उन्होंने समीर वानखेड़े और केपीएस मल्होत्रा को साम, दाम, दण्ड और अन्य किसी भी तरीके से बॉलीवुड के कलाकारों को ड्रग मामले में फंसाकर उन पर केस बनाने का आदेश दिया. केपीएस मल्होत्रा और समीर वानखेड़े ने इन कलाकारों से करोड़ों रुपए की डिमांड की, और करोड़ों रुपए की उगाही करके राकेश अस्थाना को भी हिस्सा दिया. “

इस लेटर में दीपिका पादुकोण, करिश्मा प्रकाश, श्रद्धा कपूर, रकुलप्रीत सिंह, सारा अली खान, भारती सिंह, हर्ष लिम्बाचिया, रिया चक्रवर्ती, सोविक चक्रवर्ती व अर्जुन रामपाल से वसूली की गई. ये भी आरोप लगाया गया है कि ये पैसा इकट्ठा करने का काम वकील अयाज़ खान करता था.

अयाज़ खान की दोस्ती समीर वानखेड़े से है. इस वजह से वो NCB ऑफिस में बिना किसी रोकटोक के आ जा सकता है. अयाज़ ही समीर वानखेड़े़ को बॉलीवुड से मंथली उगाही करके देता है. बदले में जब समीर वानखेड़े किसी भी बॉलीवुड आर्टिस्ट को पकड़ता है तो उन्हें अयाज खान को अपना वकील करने को कहता है. चिट्ठी में एक जगह पर ये भी लिखा गया है कि किस तरह से बिग बॉस में भाग लेने वाले अरमान कोहली के घर पर 1 ग्राम ड्रग्स रखकर जेल भेजा गया था.

आगे इस लेटर में लिखा है : “केस नंबर 94/2021 में कोर्डेलिया क्रूज़ पर जो केस किया है, उसमें सभी पंचनामे NCB मुंबई के ऑफिस में लिखे गए. BJP के इशारे पर उनके दो कार्यकर्ताओं ने समीर वानखेड़े के साथ मिलीभगत से ड्रग प्लांट किया. क्रूज़ पर NCB के कर्मचारी अपने समान में छिपाकर ड्रग्स ले गए थे. उन्होंने मौका पाकर लोगों के निजी समान में इसे रख दिया. समीर वानखेड़े को सर्च या ऑपरेशन के दौरान कोई बॉलीवुड मॉडल या सेलेब्रिटी मिलता है तो वो उसे जबरदस्ती ड्रग्स रखकर केस बना देता है. इस मामले में भी यही हुआ है.

समीर पिछले एक माह से बीजेपी के दोनों कार्यकर्ताओं (केपी गोसावी और मनीष भानुशाली) के संपर्क में हैं. क्रूज से जितने भी आदमी पकड़े गए थे, उन्हें NCB office लाया गया और सारे पंचनामे NCB के ऑफिस में बैठकर बनाए गए. परंतु ऋषभ सचदेव, प्रतीक गाबा और अमीर फर्नीचरवाला को उसी रात दिल्ली से फोन आने पर छोड़ दिया गया. इस मामले में समीर वानखेड़े की फोन कॉल डीटेल चेक की जा सकती है.”

ये लेटर लोग इसलिए झूठा बता रहे की जब इस लेटर में ये कहा गया की बीजेपी और एनसीबी जब इतनी प्लानिंग करके क्रूज़ पर रेड डालने जा रही हैं तो ऋषभ सचदेव, प्रतीक गाबा और अमीर फर्नीचरवाला जब ये लोग बीजेपी से जुड़े हैं तो फिर इन्हे पहले से बता दिया गया होता की आज रेड होनेवाली हैं वहा नहीं जाना हैं.

इस पर एक यूजर ने नवाब मालिक पर कहा “तुम्हारा दामाद ड्रग्स की जगह तंबाखू खा रहा था तो 8 महीना जेल में क्यों था? तब तुम लोगों का दिमाग कहां गया था? तब इस चिट्ठी का आइडिया नही आया?

कोर्ट में दाल गलती नहीं बस सोशल मीडिया पे रायता फैलाते रहो। पालघर में साधुओं की हत्या हुई कितनी चिट्ठी लिखी? कितना प्रेस कॉन्फ्रेंस किया.

एक यूजर ने ट्वीट किया लिखा की अगर ये लेटर ” जब नवाब मालिक को नहीं लिखा गया तो फिर इन्हे कहा से मिला. अपने दामाद को बचाने के लिए हर कोशिश कर रहे हैं.


Like it? Share with your friends!

218

You may also like

More From: News

DON'T MISS