कल्याण ज्वेलर्स और अमिताभ बच्चन भारतीय इतिहास की धज्जिया उड़ा रहे. अब मांग रहे माफ़ी मुगलो को महान बता रहे


भारतीय जनता अब इतनी जागरूक हो चुकी हैं की कोई भी उन्हें बेवक़ूफ़ नहीं बना सकता. खासकर तब जब ज़माना सोशल मीडिया का हैं. किसी भी प्रोडक्ट को बेचने में बेवक़ूफ़ बनाने के लिए बॉलीवुड के बड़े बड़े सितारों का सहारा लिया जाता है. बात चाहे फेयरनेस क्रीम की हो या फिर कोल्ड्रिंक्स की.

बॉलीवुड पैसे लेकर भूल जाता हैं की उसकी जिम्मेदारी भी हैं. कल्याण ज्वेलर्स ये नाम किसी के लिए नया नहीं हैं. अमिताभ बच्चन इसके ब्रांड अम्बेस्डर हैं. अच्छा अमिताभ बच्चन भी गज़ब के इंसान हैं. कल्याण जेवेलर्स से गोल्ड खरीदने के लिए कहते हैं और मुथूट गोल्ड से उसे गिरवी रखने का विज्ञापन करते हैं.

तो हुआ ऐसा की कल्याण जेवेलर्स इस देश की जनता को बेवक़ूफ़ बना रहा था. जो चीज़ भारत की हैं उसे मुगलो की खोज बता रहा हैं. अबे मुगलो का नाम लेकर तुम और बेवकूफी कर रहे हो. उन लूटेरों के नाम पर तो कोई पानी ना खरीदे तुम सोना खरीदने की बात करते हो.

कल्याण ज्वेलर्स ने एक ब्लॉग लिखा जिसमे कहा की मराठी नाथ यानी नोज रिंग ये भारत में मुग़ल लेकर आये थे. अब इन बेवकूफो को कौन बताएं की मुग़ल कुछ लेकर नहीं आये थे बल्कि भारत से बहुत कुछ लूटकर लेकर गए.

ऊपर से इतिहास की किताब में इन गधों के बारे में ही हमें पढ़ाया गया. बाबर, अकबर, औरंगजेब को इतना महान बना दिया मनाओ ये भगवान थे. ये यहाँ आये भारत में लूटपाट किया, मंदिरो को तोडा, कत्ले आम किया,औरतो की इज्जत के साथ खेला, धर्म परिवर्तन कराया. और मरने के बाद ना जाने कितने ज़मीन हड़प कर अपना मकबरा तक बना लिया. अब कुछ लोग आएंगे यहाँ पर ज्ञान देने की मुगलो के बारे में कुछ मत बोलो. तो उन लोगो को पता होना चाहिए की बाबर, औरंगजेब जैसे जितने मुग़ल थे वो हिंदुस्तानी नहीं थे. बाहरी थे और लूटेरे थे.

ऊपर से कल्याण ज्वेलर्स हमें बेवक़ूफ़ बना रहा की मराठी नाथ नगल लेकर आये. भारत नीति नामक एक पहल की कोर कमेटी की सदस्य सुनयना होले ने इस पर क्या कहा वो सुन लो ““इतिहास को बदलने की कोशिश न करें। नथ या नोज रिंग को मुगल भारत लेकर नहीं आए। इसका अस्तित्व प्राचीन काल से ही था और यह 9वीं-10वीं शताब्दी के दौरान चलन में आई और स्टेटस सिंबल बनी। सुनयना ने यह भी लिखा कि राजाओं, मंत्रियों और व्यापारियों की पत्नियों एवं अन्य धनी परिवारों की महिलाओं ने नाक के इस खूबसूरत गहने को पहनना शुरू कर दिया था। 15वीं शताब्दी के बाद इस गहने में परिवर्तन देखने को मिला।”

अब कल्याण ज्वेलर्स ने उस ब्लॉग को तो हटा दिया लेकिन लोग कल्याण ज्वेलर्स को गालीया दे रहे हैं जिसका वो हकदार भी हैं. हैरान करनेवाली बात ये हैं की अमिताभ बच्चन, कटरीना कैफ जैसे लोग बिना इतिहास जाने इस तरह के विज्ञापन में काम करते हैं. इनके लिए पैसा ही सब कुछ हैं.

जहा तक मेरा सोचना हैं ये काम कल्याण ज्वेलर्स ने जानभूझकर किया हैं क्यूंकि ऐसे तो किसी को नोज रिंग के बारे में पता नहीं चलता. थोड़ा विवाद डालकर उसमे आग लगा दो. जब आग लगेगी तो आम जनता का इमोशन बाहर आएगा. और हमारा प्रोडक्ट सबकी ज़ुबान पर होगा.

What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
confused confused
0
confused
fail fail
0
fail
fun fun
0
fun
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
0
omg
win win
0
win

You may also like

More From: News

DON'T MISS