एनसीबी से बचने के लिए बॉलीवुड वॉट्सऐप चैट और डेटा परमानेंट डिलीट करवा रहा


एनसीबी का खौफ बॉलीवुड में इस वक्त कितना हैं वो आप इस वीडियो में देख सकते हैं. अब तक जितने भी लोग जिस जिस मामले में पकडे गए. उन सभी में ये बात सामने आयी की सभी की व्हाट्स आप चैट से कुछ न कुछ सबूत मिला हैं जिसके चलते बाकी लोग पकडे जा रहे हैं.

चाहे राज कुंद्रा की बात कर लो, सुशांत मामले में भी जितने लोग पकडे गए सब के सब चैट के माध्यम से पकडे गए सभी के राज़ वही से खुले थे. इसलिए बॉलीवुड यानी जो लोग बॉलीवुड से इस तरह के किसी भी मामले में शामिल हैं. चाहे अश्लीलता का हो या फिर ड्रग्स का या फिर अंडरवर्ल्ड कनेक्शन से जुड़े होने का.

ये सभी व्हाट्स आप चैट डेली कर रहा. और ये डिलीट सिर्फ चैट को डिलीट करने जैसा नहीं हैं बल्कि क्लाउड बैकअप से भी डिलीट करवा रहे हैं. लेकिन प्रॉब्लम यही ख़त्म नहीं होती हैं. क्यूंकि जब हम अपने फोन या क्लाउड स्टोरेज से कोई डेटा डिलीट कर देते हैं, तब वो डिलीट होने के बाद भी इमेज के तौर पर सेव रहता है।

ऐसे में सॉफ्टवेयर की मदद से डेटा को रिकवर किया जा सकता है. आपके सिस्टम से कोई फाइल डिलीट हो जाती है तब सॉफ्टवेयर से उसे रिकवर कर सकते हैं. वॉट्सऐप में जब हम कोई मैसेज भेजते हैं तब उसे डिलीट फॉर मी, डिलीट फॉर एवरीवन का ऑप्शन मिलता है. इस बीच यदि रिसीवर ने मैसेज पढ़ लिया तो भले ही आप उसे डिलीट कर दें, लेकिन वो एक इमेज के तौर पर सेव हो जाएगा.

सोशल मीडिया पर जब भी हम किसी अकाउंट को डिलीट करते हैं तब कंपनी 30 से 45 दिन तक उस अकाउंट से जुड़ा डेटा संभालकर रखती है. वैसे ये टेक्नीकल चीज़ पर इतना नहीं जाना चाहूंगा. बस इतना कह सकता हूँ की अपराधी कितने भी सबूत मिटा लें लेकिन कोई ना कोई सबूत तो छोड़ ही देता हैं और पुलिस हो या एनसीबी या फिर सीबीआई अगर उसे रिकवर करना चाहे तो उनके पास हज़ारो तरीके हैं उसे रिकवर करने के.


Like it? Share with your friends!

194

You may also like

More From: News

DON'T MISS