इस बोल्ड सीन से रातों-रात नाम कमानेवाली मंदाकिनी आज ऐसी ज़िन्दगी जी रही हैं |

बॉलीवुड फिल्मों का इतिहास लगभग १०० साल से भी ज़ायदा पुराना है | इतने सालों में ना जाने कितने सितारें सफलता की बुलंदियों को चुकार सुपरस्टार बन गायें और ना आने कितने ही कलाकार हिट फिल्में देने के बाद भी आँखों से ओझल हो गयें | फिल्मकार अपनी हर फिल्म में हर तरीके से कुछ ऐसा करने का प्रयास करता हैं जिसे देखने के बाद दर्शक इसकी तारीफ़ किये बिना नहीं रह पाते |

१९८० के दशक में उस तरह की फिल्में बना करती थीं जो अपनी साफ़-सुथरी छवि और उत्कृष्ट कहानी के लिए मानी जाती थीं | उस दौर के गाने आज के साल बाद भी लोगो के जेहन में उसी तरह से गूँज रहे हैं जैसे बचपन के दौर की कहानी और कवितायेँ | लीक से हटकर कुछ करना थोड़ा सा खतरा मोल लेने जैसा होता था | ऐसे में उस दौर के एक महान फ़िल्मकार स्वर्गीय श्री राजकपूर साहेब जिन्हे अपनी हर फिल्म में कुछ अलग करने के लिए उस्ताद माना जाता था |

mandakini-20.11.17-3

साफ़ सुथरी फिल्मों के दौर में राजकपूर ने एक फिल्म बनाई “राम तेरी गंगा मैली” और इस फिल्म से जिस अभिनेत्री ने सबसे ज़ायदा नाम कमाया वो थीं उस दौर की सबसे खूबसूरत और भूरी आँखों वाली “मंदाकिनी” जिनके हुस्न के कायल सिर्फ बॉलीवुड के कलाकार ही नहीं थे बल्कि मुंबई अंडरवर्ल्ड डॉन और मुंबई बम धमको का मुख्या आरोपी दाऊद इब्राहिम भी था | माना ये भी जा रहा था की दाऊद की वजह से मन्दाकिनी को बॉलीवुड की फिल्मों में काम मिला करता था |

mandakini-20.11.17-4

राजकपूर ने “राम तेरी गंगा मैली” में उस समय का सबसे बोल्ड सीन देने के लिए राज़ी कर लिया था | २२ साल की डरी -सेहमी यास्मीन उर्फ़ मंदाकिनी ने इस फिल्म में दो बोल्ड सीन दिए थे | पहला सीन कुछ ऐसा था जहाँ फिल्म के एक गीत के दौरान वो झरने के नीचे नहाते हुए नज़र आती हैं, जिसमे उन्होंने सफ़ेद रंग की साड़ी पहन राखी थीं और उनके वक्षस्थल को सफाई से देखा जा सकता हैं | दुसरे सीन में वो अपने बच्चे को दूध पिलाती हुयी नज़र आती हैं जहाँ उनका थोड़ा सा वक्षस्थल बच्चे को दूध पिलाने के दौरान दिख रहा हैं |

mandakini-20.11.17-2

उस दौर में बोल्ड सीन देने के लिए एक मन्दाकिनी और दूसरा जीनत अमान का नाम सबसे पहले आता हैं | जीनत अमान ने भी फिल्म “सत्यम शिवम् सुंदरम ” में बोल्ड सीन दिया था जिसके बाद वो काफी मशहूर हो गयी थीं | शायद यही वो दौर था जब बॉलीवुड ने राजकपूर साहेब के दिखाएं इस रस्ते पर चलना मुनासिब समझा और उसका परिणाम आज हम बॉलीवुड की लगभग हर फिल्म में देख सकते हैं |

rajkapoor

लेकिन आपको जानकार ये हैरानी होगी की जिस मंदाकिनी ने अपनी कातिलाना अदाओं से सबकादिल जीत लिया था आज उसी हुस्न की पारी को आप पहचान ही नहीं पाओगे | साल 1990 में मंदाकिनी ने डॉक्टर कग्युर टी. रिनपोचे ठाकुर से शादी कर ली और अब उनके दो बच्चे है शायद इसी वजह से उनका वज़न काफी बढ़ गया हैं और वो कुछ अलग ही रूप रंग में दिखने लगी हैं |

mandakini-18.11.17-1

फिलहाल मंदाकिनी अपने पति और दो बच्चो के साथ काफी खुश हैं और आजकल वह लोगों को तिब्बतन योगा सिखाती हैं, आखिर दलाई लामा की बहुत बड़ी अनुयाई जो हैं |

Dalai-Lama

You may also like...